Latest employment news India | Jobs August September 2020

वर्तमान सरकार ने सुधार प्रक्रिया को तेज किया है. हाल ही में सरकार ने स्वचालित मार्ग के तहत अधिक निवेश की अनुमति देकर नागर विमानन, एकल ब्रांड खुदरा, रक्षा और फार्म सहित कई क्षेत्रों में एफडीआई मानदंडों में ढील दी है. खाद्य उत्पादों में -कॉमर्स, प्रसारण कैरिज सेवाओं, निजी सुरक्षा एजेंसियों और पशुपालन सहित एफडीआई मानदंडों में ढोल दी गई है. सरकार द्वारा किए गए सुधार के उपायों के परिणामस्वरूप वित्तीय वर्ष 205-6 में 55.46 अरब अमरीकी डॉलर की वृद्धि हुई है. प्रधानमंत्री ने एफडीआई को "प्रथम विकास भारत' की संज्ञा दी है. सुधारों का मुख्य फोकस रोज़गार और नौकरियों के सृजन पर है.


 

सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई ), जिनका भारत के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी ) में लगभग 7-8 प्रतिशत, विनिर्माण उत्पादन में 45 प्रतिशत और निर्यात में 40 प्रतिशत का योगदान है, सरकार के एजेंडा में सबसे ऊपर हैं. अर्थव्यवस्था के विकास के इंजन के ख्प में पहचाने जाने वाले, एमएसएमई कृषि के बाद सबसे बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार प्रदान करते हैं और इसीलिए सरकार ने हाल ही में इस क्षेत्र में कई सुधारों की घोषणा की है, जिनका उद्देश्य भारत को आत्मनिर्भर बनाना है. वर्तमान सरकार ने वस्तु और सेवा कर (जीएसटी) के रूप में आजादी के बाद से सबसे बड़ा कर सुधार भी किया है जिसके परिणामस्वरूप व्यापार में आसानी हुई है, कर आधार और उच्च कर संग्रह में वृद्धि हुई है.

 

 

स्वतंत्रता के बाद से भारत की सबसे बड़ी उपलब्धियों में से एक सॉफ्टवेयर सुपरपावर के रूप में इसका उदय हुआ है. सॉफ्टवेयर उद्योग के नेतृत्व में सेवा क्षेत्र भारत के सकल घरेलू उत्पाद में सबसे अधिक योगदान देता है. सरकार ने 985 में इलेक्ट्रॉनिक्स और सॉफ्टवेयर पर ध्यान केंद्रित कर अपनी आईटी नीति घोषित की जिसमें विभिन्न प्रकार की नौकरियों की पेशकश करके बेरोजगारी के मुद्दे को हल किया गया. भारत ने अपने मानव संसाधनों के आधार पर आईटी सॉफ्टवेयर और सेवा क्षेत्र में कदम रखा है. भारतीय आईटी पेशेवरों का सिलिकॉन बैली में शासन है. गूगल और माइक्रोसॉफ्ट सहित तकनीकी दिग्गजों में भारतीयों का नेतृत्व है. नवीनतम आंकड़ों का दावा है कि भारतीय आईटी उद्योग का निर्यात राजस्व वित्त वर्ष 209 में 430 बिलियन अमरीकी डॉलर से अधिक था और देश भर में घरेलू राजस्व की तुलना में तेजी दर से बढ़ी है.


Post a Comment

Previous Post Next Post
">
">